कोविड का बहाना करके यात्रा रोकना चाह रही BJP:राहुल गांधी

Congress -alleges- amidst- Bharat- Jodo -Yatra- BJP -trying -to- stop -the- yatra- on -the- pretext -of- covid-haryana-india

नूंह:हरियाणा:22 दिसम्बर। कांग्रेस के वरिष्ठ नेता और भारत जोड़ो यात्रा पर निकले सांसद राहुल गांधी ने आज सुबह नूंह ज़िले के घासेड़ा में एक सभा को संबोधित करते हुए मीडिया पर तंज कंसते हुए कहा कि हमारी यात्रा कन्याकुमारी से कश्मीर तक चल रही है। लाखों लोग आ रहे हैं, लेकिन मीडिया में नहीं दिखेगी, मगर नरेंद्र मोदी 10-15 कदम चलेंगे तो 24 घंटा आपको टीवी में दिखेगा।

उन्होने कहा कि संसद में जब हम राफेल, नोटबंदी जैसे मुद्दे उठाते हैं तब माइक ऑफ कर दिया जाता है, इसीलिए हमें यह यात्रा कन्याकुमारी से कश्मीर तक करनी पड़ी। इस दौरान हमें जो सीखने को मिला वह हवाई जहाज में, गाड़ी में हेलीकॉप्टर में सीखने को नहीं मिल सकता है।

महात्मा गांधी का ज़िक्र करते हुए राहुल गांधी ने कहा कि उस समय भी नफरत और हिंसा थी। उस समय भी इन्हीं लोगों ने हिंदुस्तान को बांटने का और नफरत फैलाने का काम किया था। उन्होंने आगे कहा कि गांधी सिर्फ एक व्यक्ति नहीं, सोच थे। ये हिंदुस्तान के सबसे निडर व्यक्ति थे। अंग्रेज इन्हें डराने की कोशिश करते थे, ये डरते नहीं थे। जेल में डाला, गोली मारी फिर भी नहीं डरे। तो मैं आपको यही संदेश देना चाहता हूं कि कुछ भी हो जाए आपको डरना नहीं है। हम उन्हें देश को तोड़ने नहीं देंगे।

सड़कों की बदहाल स्थिति का ज़िक्र करते हुए राहुल ने कहा कि मैं इन सड़कों पर चला हूं और मुझे दिख रहा है कि सड़कें खराब है‌ं, और आपको दर्द हो रहा है। यदि कोई मर्सिडीज से या हेलिकॉप्टर से जाता तो उसे ये सब दिखाई नहीं देता। जब हम पैदल चलते हैं तो बात गहराई से दिमाग में बैठ जाती है। यहां कुछ चीज़ों की ज़रुरत साफ़ तौर पर नज़र आ रही है। यहां पर आपको इंस्टीट्यूशंस की जरूरत है, कॉलेज और विश्वविद्यालयों की जरूरत है। अस्पताल और मेडिकल कॉलेज की ज़रूरत है। हमारी सरकार आएगी तो ये तीनों चीजें आपको करके दे देंगे।

बीजेपी पर हमला करते हुए राहुल ने कहा कि नोट बंदी और जीएसटी छोटे व्यापारियों पर हमला करने के हथियार हैं। इसी तरह किसानों और मजदूरों पर हमला करने के लिए तीन काले कृषि कानून लाए गए थे। लेकिन जब किसान इसके खिलाफ खड़े हो गए तब मोदी जी को वापस लेना पड़ा। जब भी मोदी जी के खिलाफ कोई खड़ा हो जाता है वह मैदान छोड़कर भाग जाते हैं। इसलिए आपको भी डरने की जरूरत नहीं है, यह देश वीरों का देश है।

स्वास्थ्य मंत्री द्वारा लिखी गई चिट्ठी पर राहुल ने कहा कि उन्होंने मुझे पत्र लिखकर कहा कि कोविड आ रहा है,यात्रा बंद करो। मतलब अब यात्रा को रोकने के लिए बहाने बन रहे हैं। हकीकत यह है कि हिंदुस्तान की शक्ति से, हिंदुस्तान की सच्चाई से ये लोग डर गए हैं। यात्रा में हम सौ दिन से ज्यादा चलें हैं। इसमें हिंदू, मुस्लिम, सिख, इसाई, हर धर्म-जात के लोग साथ चले हैं। महिला, पुरुष, बच्चे सब चले हैं। इसमें किसी ने किसी से नफरत नहीं की। किसी ने एक दूसरे का धर्म नहीं पूछा। इस यात्रा में लोगों ने एक दूसरे का आदर किया। राहुल ने सभा में मौजूद सभी लोगों से कहा कि मैंने नफरत के बाजार में मोहब्बत की दुकान खोली है आप भी खोलो।

कांग्रेस सांसद एवं पार्टी के संचार प्रभारी जयराम रमेश ने मीडिया से बातचीत करते हुए कहा कि हरियाणा चौथा ऐसा राज्य है जहां,भाजपा की सरकार है और यात्रा गुज़र रही है। इन चारों राज्यों में भाजपा ने भारत जोड़ो यात्रा को भटकाने के लिए भरपूर प्रयास किए। कर्नाटक में हमारे होर्डिंग्स फाड़े गए, हमारे खिलाफ अखबारों में फुल पेज के विज्ञापन दिए गए, गलत प्रचार किया गया लेकिन इन सबके बावजूद वहां हमारा शानदार स्वागत हुआ। महाराष्ट्र में कर्नाटक की तरह तो नहीं लेकिन यहां भी कुछ जिलों में हमें परेशान किया गया, हमारे खिलाफ खबरें छपवाई गईं, लेकिन वहां भी यात्रा जबरदस्त ढंग से सफल हुई। राजस्थान में जब भाजपा को लगा कि यात्रा सफल हो रही है तब उन्होंने जन आक्रोश यात्रा की घोषणा की।

उन्होंने कहा कि हम जहां-जहां से गुज़रे वहां भाजपा और उनके नेताओं द्वारा प्रयास किया गया कि रोज कुछ ना कुछ झूठ फैलाया जाए, लेकिन हरियाणा में एक नया तरीका देख रहे हैं। यहां की सड़कें तो हमारे लिए ख़तरा है ही,कल हम जब पदयात्रा के बाद भादस गांव से गुज़रे तब वहां बिजली नहीं थी। फिर भी हजारों लोग नारे लगा रहे थे और उन्होंने हमारा स्वागत किया। जब मैंने कुछ लोगों से बात की, पता किया कि बिजली क्यों नहीं है। तीन-चार लोगों ने मुझे बताया कि कल पूरे दिन यहां बिजली नहीं थी। एक दिन पहले तक वहां बिजली थी। इसमें मुझे प्रतिशोध की राजनीति लगी। यह कैंप स्थल के बिल्कुल बाहर की बात है। हम यहां की सरकार से कहना चाहते हैं कि अगर आपको प्रतिशोध की राजनीति करनी है तो हमारे खिलाफ कीजिए। गांव वालों के खिलाफ क्यों कर रहे हैं। क्या इसलिए कि उन्होंने हमारा स्वागत किया। ये गलत है, लेकिन इनकी परंपरा रही है। कर्नाटक में, महाराष्ट्र में, मध्यप्रदेश में और अब हरियाणा में ये ऐसा ही कर रहे हैं।

जयराम ने कहा कि भारत यात्रियों में करीब 10% हरियाणा से हैं। ये सभी कन्याकुमारी से चले हैं और आगे कश्मीर तक जाएंगे। इसके बाद राज्य के सभी 14 यात्रियों ने अपना परिचय दिया और संक्षिप्त में यात्रा से जुड़े अनुभव शाझा किए। भारत यात्री प्रमोद सहवाग ने बताया कि वह जींद से कांग्रेस के प्रत्याशी रह चुके हैं। सहवाग करीब 20 वर्षों में एनएसयूआई, यूथ कांग्रेस और अब कांग्रेस में विभिन्न पदों पर रहे हैं। उन्होंने बताया कि जब 7 सितंबर से यात्रा शुरू हुई थी तब सिर्फ इतना पता था कि यह कांग्रेस की यात्रा है और राहुल गांधी इसका नेतृत्व कर रहे हैं। लेकिन 9 प्रदेशों से गुजरने के बाद हम यह कह सकते हैं कि अब यह भारत की यात्रा बन गई है। भिवानी से भारत यात्री और किसान कांग्रेस की ज्वाइंट कोऑर्डिनेटर के पद पर आसीन प्रिया ग्रेवाल ने बताया कि हम जिन राज्यों से गुजर रहे हैं वहां लोगों का जबरदस्त प्यार मिल रहा है। लोग अपनी समस्याएं सुनाने आ रहे हैं। अंबाला जिले के जगदीप सिंह ने बताया कि वह एक किसान परिवार से आते हैं। भारत जोड़ो यात्रा के दौरान हम जिन राज्यों से गुजरे वहां ऐसा लगा कि समाज का सभी वर्ग परेशान है।

कांग्रेस सेवा दल की उपाध्यक्ष, रोहतक की सुनीता ने बताया कि उनके लिए यात्रा का सबसे अच्छा अनुभव यह रहा है कि वह समाज के सभी वर्ग और आयु वर्ग के इतने लोगों से मिल पाईं। पानीपत के एडवोकेट शौर्य वीर सिंह ने बताया कि नौजवान होने के नाते यात्रा में जाना हमारा फर्ज था। जो हरियाणा रोजगार देने में नंबर वन था वह आज बेरोजगारी में नंबर वन है।
कुरुक्षेत्र से भारत यात्री रेखा कश्यप ने बताया कि कन्याकुमारी से ही यात्रा को लेकर ज़बरदस्त उत्साह रहा है। महिलाएं अपने छोटे छोटे बच्चों को लेकर आती हैं। आजकल बड़े नेताओं से मिलना मुश्किल होता है लेकिन राहुल जी गरीब से गरीब लोगों से भी मिल रहे हैं। राहुल युवाओं,बच्चों, महिलाओं सब की समस्याएं सुनते हुए आगे बढ़ रहे हैं। रोहतक से भारत यात्री विशाल चौधरी ने बताया कि वह पहले नेशनल बॉक्सर थे। अभी एनएसयूआई के राष्ट्रीय महासचिव हैं। विशाल ने बताया कि कांग्रेस की विचारधारा हमेशा से देश को जोड़ने की रही है, RSS की विचारधारा ने देश को तोड़ने का काम किया है। भारत जोड़ो यात्रा आरएसएस द्वारा फैलाए गए नफ़रत की जहर को ख़त्म करने का काम कर रही है।

कैथल से भारत यात्री प्रदीप कुमार रोड ने बताया कि वह किसान परिवार से आते हैं। उन्होंने बताया कि किसानों की जो समस्याएं हैं वह मुख्य रूप से उनके समाधान के लिए ही राहुल गांधी के साथ भारत जोड़ो यात्रा में चल रहे हैं।
हरियाणा से भारत यात्री राहुल राव ने बताया कि भारत जोड़ो यात्रा के दौरान राहुल गांधी लोगों के दिलों की बात सुन रहे हैं। बहुत से नेता है जो सिर्फ अपने मन की बात करते हैं। इस ऐतिहासिक यात्रा का हिस्सा बनकर गौरवान्वित महसूस कर रहे हैं। चंखी दादरी से भारत यात्री सुशील धानक ने कहा कि जिस तरह गांधीजी ने यात्रा निकाली थी उसी तरह आज राहुल गांधी भी यात्रा निकाल रहे हैं। रोहतक के प्रिंस मल्होत्रा ने कहा कि राहुल गांधी के ख़िलाफ़ जितनी फेक चीजें फैलाई गईं वो सभी उनके “नफ़रत के बाज़ार में मोहब्बत की दुकान” वाले बयान के बाद डिलीट हो गई है। रोहतक जिले के परमजीत सिंह पम्मी ने बताया कि वह पहले भारत यात्री नहीं थे। यूथ कांग्रेस ने उन्हें भारत जोड़ो यात्रा में शामिल होने का मौका दिया। उन्होंने कहा कि आंधी तूफान बारिश कुछ भी आ जाए वह राहुल गांधी जी के साथ यात्रा में चलना जारी रखेंगे। रोहतक के ही एक और भारत यात्री विजेंद्र सांगवान थे, जिन्होंने बताया कि भारत जोड़ो यात्रा के दौरान वह जिस तरह से राहुल गांधी को देख रहे हैं, उनके नेतृत्व में भारत का भविष्य सुरक्षित दिखाई दे रहा है। सोनीपत के अभिनव शर्मा ने बताया कि इस यात्रा के माध्यम से हम नफरत के खिलाफ प्यार का संदेश देना चाहते हैं।

जयराम रमेश ने स्वास्थ्य मंत्री द्वारा राहुल गांधी को लिखे गए पत्र पर क्रोनोलॉजी समझाया। जुलाई, सितंबर और नवंबर में गुजरात एवं ओडिशा में ओमिक्रॉन सब-वैरिएंट BF.7 के 4 मामले सामने आए। स्वास्थ्य मंत्री ने कल राहुल गांधी को एक पत्र लिखा। आज प्रधानमंत्री स्थिति की समीक्षा के लिए रहे हैं। एक दिन बाद यात्रा दिल्ली में प्रवेश करेगी। दिल्ली में शामिल होने से 2 दिन पहले प्रधानमंत्री बैठक बुलाते हैं। इमरजेंसी मीटिंग। बीजेपी की एक बी टीम भी है, दिल्ली के मुख्यमंत्री, वो भी एक इमरजेंसी मीटिंग बुलाते हैं। जयराम ने आरोप लगाया कि ये राजनीति है। प्रधानमंत्री और मुख्यमंत्री दोनों राजनीति कर रहे हैं। राहुल गांधी को चिट्ठी कोई वैज्ञानिक आधार पर नहीं लिखी गई है दो सांसदों के सुझाव पर लिखी गई है। यदि विशेषज्ञों की राय की आधार पर कोई मेडिकल फोटो कॉल आता है तो हम उसका पालन करेंगे, लेकिन पॉलिटिकल प्रोटोकॉल का विरोध करेंगे।

हरियाणा के पूर्व मुख्यमंत्री भूपेंद्र सिंह हुड्डा ने कहा कि अगर इस वजह से बिजली काटी गई है कि यहां पर यात्रा रुकी हुई है तो आपको तो पूरे हरियाणा की बिजली काटनी पड़ेगी, क्योंकि पूरा हरियाणा यात्रा से जुड़ रहा है। उन्होंने आगे आरोप लगाया कि कल यात्रा में बहुत ज्यादा भीड़ गई थी इसलिए आज पुलिस लोगों को यात्रा में आने से रोक रही थी। हम इस मुद्दे को सदन ने भी उठाएंगे और इसके खिलाफ कार्रवाई लेंगे। उन्होंने सभी अधिकारियों को चेतावनी दी की राजनीति से प्रेरित होकर कोई फैसला ना लें। हुड्डा ने आगे कहा कि BJP सरकार के पास दिखाने के लिए कोई उपलब्धि नहीं है, ये विफल सरकार है, इसलिए ये सब काम कर रही है।।

कॉन्ग्रेस प्रवक्ता एवं मीडिया तथा प्रचार के अध्यक्ष पवन खेड़ा ने कहा कि कोविड को लेकर कुछ जानकारी छुपाई जाएगी। गुजरात में कांकरिया कार्निवल नाम के एक कार्यक्रम की तैयारी हो रही है, जिसमें प्रतिदिन तीन लाख लोग आने वाले हैं। गुजरात में ही एक फ्लावर शो का आयोजन किया जा रहा है, जिसमें प्रतिदिन डेढ़ से दो लाख लोग आने वाले हैं। मध्यप्रदेश में प्रवासी भारतीय दिवस का आयोजन होने वाला है, जिसमें प्रधानमंत्री और राष्ट्रपति दोनों जा रहे हैं, और हम जानते हैं कि यह सरकारी कार्यक्रम सिर्फ दिखाने के लिए होता है,ये राजनीतिक कार्यक्रम होते हैं, लाखों लोग इसमें भी आने वाले हैं। बीजेपी की सरकार उन लाखों भक्तों के लिए क्यों चिंतित नहीं है, जो गुजरात के प्रमुख स्वामी के शताब्दी में रोज जा रहे हैं। जी ट्वेंटी की तैयारी भी 20 शहरों में हो रही है। क्या उसकी चिंता नहीं है आपको। अभी 3 दिन पहले त्रिपुरा में प्रधानमंत्री जी रैली भी हुई है उसमें भी फिर आई थी। क्या इन सब की चिंता आपको नहीं है। सिर्फ भारत छोड़ो यात्रा उनकी आंखों में खटक रही है।