डाॅ देवाशीष माथुर, बर्न विश्वविद्यालय,स्विट्जरलैंड द्वारा कार्यशाला में आमंत्रित….

नई दिल्ली,5 फरवरी ।रणनीतिक प्रबंधन, आई.एम.आई. देहली में सहायक प्रोफेसर देवाशीष माथुर, स्विट्जरलैंड के बर्न यूनिवर्सिटी ऑफ एप्लाइड साइंसेज में पेपर डेवलपमेंट वर्कशॉप (पीडीडब्ल्यू) के लिए चुने गए 8 विद्वानों में से एक थे।

पीडीडब्ल्यू का आयोजन प्रतिष्ठित पत्रिका एकेडमी ऑफ मैनेजमेंट लर्निंग एंड एजुकेशन द्वारा किया गया था।

डाॅ   देवाशीष ने ‘विलुप्त होने, बचाव, या फलते-फूलते बिजनेस स्कूल?’ शीर्षक से अपना पेपर प्रस्तुत किया। डेल्फ़ी सर्वेक्षण का उपयोग करके प्रबंधन शिक्षा का एक परिदृश्य मानचित्रण।

परियोजना का उद्देश्य उच्च शिक्षा में एआई, गिग इकॉनमी, फ्लेक्सीवर्क इत्यादि जैसे परिवर्तनकारी परिवर्तनों को मैप करना और उच्च शिक्षा नेताओं और नीति निर्माताओं को प्रबंधन शिक्षा के भविष्य के बारे में सूचित करना है।

भाग लेने वाले अन्य विद्वान कैम्ब्रिज यूनिवर्सिटी, यूके, रॉटरडैम स्कूल ऑफ मैनेजमेंट, नीदरलैंड, ईएचसीपी, पेरिस, रीडिंग यूनिवर्सिटी, यूके, नॉर्थईस्टर्न यूनिवर्सिटी, यूएस आदि से थे।

अजमेर निवासी डाक्टर ब्रिजेश माथुर के पुत्र  देवाशीष आईआईटी बॉम्बे और एमडीआई गुड़गांव के पूर्व छात्र हैं। वह वर्तमान में इंटरनेशनल मैनेजमेंट इंस्टीट्यूट दिल्ली में कार्यरत हैं और हेल्थकेयर स्टार्टअप पर आईसीएसएसआर द्वारा वित्त पोषित अनुसंधान पर भी काम कर रहे हैं।