IT के माध्यम से राज्य सरकार की सेवाओं को और सरल बनाएं 

जयपुर, 23 जनवरी। सूचना प्रौद्योगिकी  और संचार मंत्री कर्नल राज्यवर्धन सिंह राठौड़ ने कहा कि  (IT) सूचना प्रौद्योगिकी राज्य सरकार की सेवाओं और सुविधाओं को और सरल बनाकर जन-जन तक पहुंचाने में बड़ी भूमिका निभा रही है।

उन्होंने सूचना प्रौद्योगिकी और संचार विभाग के अधिकारियों का आह्वान किया कि वे विश्वसनीयता और प्रतिबद्धता के जज्बे के साथ समस्याओं के समाधान खोजें और राज्य सरकार के अंत्योदय के प्रण को पूरा करने में अपना योगदान जारी रखें।

कर्नल राज्यवर्धन सिंह राठौड़ मंगलवार को राजस्थान स्टेट डेटा सेंटर और भामाशाह टेक्नो हब का दौरा करने के बाद विभागीय अधिकारियों की बैठक को संबोधित कर रहे थे। उन्होंने अधिकारियों से विभाग की कार्यप्रणाली के बारे में जाना और उनके द्वारा किए जा रहे कार्यों की मुक्त कंठ से प्रशंसा की और उन्हें आवश्यक दिशा—निर्देश भी दिए।

उन्होंने कहा कि वे अच्छे कार्यों से संतुष्ट न रहें, बल्कि इंडस्ट्री के लोगों के पास जाएं और इनोवेटिव विचारों को लागू करते रहें। उन्होंने कहा कि घर में बैठे पेंशनर के सत्यापन, प्रमाण पत्रों के आसानी से बनने से जीवन आसान हो रहा है और विभाग जनकल्याण का कार्य इसी तरह जारी रखे। विभाग के वरिष्ठ अधिकारियों ने उन्हें विभाग के राजस्थान संपर्क, ई-मित्र, राजकॉम्प, जनाधार, अभय कमांड सेंटर, जीआईएस, राजनेट, यूआईडी आधार, आरकैट, ई-बाजार आदि योजनाओं की जानकारी दी।

शासन सचिव सुश्री आरती डोगरा ने कर्नल राठौड़ का आभार व्यक्त करते हुए जानकारी दी कि विभाग की कार्ययोजना के तहत अभी बहुत कुछ किया जाना प्रस्तावित है। उन्होंने बताया कि आर्टिफिशियल इंटेलिजेंस, बिग डेटा, ब्लॉकचेन जैसी आधुनिकतम तकनीकों को अपनाकर राजस्थान सूचना प्रौद्योगिकी के क्षेत्र में नया मुकाम छुएगा और तकनीक के मामले में हमेशा प्रासंगिक बना रहेगा।

आयुक्त  इंद्रजीत सिंह ने कहा कि कर्नल राज्यवर्धन सिंह राठौड़ के दिशा-निर्देशों के अनुसरण विभागीय अधिकारी कार्य की गुणवत्ता का विशेष ध्यान रखेंगे और विभाग को सफलता के अगले स्तर तक ले जाएंगे। उन्होंने अधिकारियों की ओर से मंत्री कर्नल राठौड़ को आश्वस्त किया कि विभाग वास्तविक दुनिया की आवश्यकताओं के अनुसार समस्याओं के समाधान खोजेगा और आमजन का जीवन आसान बनाता रहेगा। इस अवसर पर विभाग के सभी वरिष्ठ अधिकारी उपस्थित थे।

इससे पहले मंत्री कर्नल राज्यवर्धन सिंह राठौड़ ने भामाशाह डेटा सेंटर का दौरा किया और इसकी कार्यप्राणाली के बारे में जानकारी ली।