राजस्थान को बनाएंगे सोलर उपकरणों के निर्माण का हब – ऊर्जा राज्यमंत्रीे

जयपुर, 3 फरवरी। ऊर्जा राज्यमंत्री (स्वतंत्र प्रभार)  हीरालाल नागर ने कहा कि राजस्थान में सौर ऊर्जा के क्षेत्र में असीम संभावनाएं हैं। राज्य सरकार का प्रयास है कि राजस्थान को सौर ऊर्जा उपकरणों के निर्माण के क्षेत्र में हब के रूप में विकसित किया जाए।

उन्होने कहा कि  इस दिशा में उद्यमियों तथा निवेशको को आवश्यक सुविधाएं प्रदान करने में सरकार कोई कमी नहीं रखेगी।

ऊर्जा मंत्री शनिवार को राजस्थान इंटरनेशनल  सेंटर RIC में राजस्थान सोलर एसोसिएशन की ओर से आयोजित भारत सोलर एक्सपो-2024 का अवलोकन करने के बाद उद्यमियों, निवेशकों तथा प्रतिभागियों से संवाद कर रहे थे।

तीन दिवसीय इस एक्सपो में देश के अलग-अलग राज्यों से आए प्रोजेक्ट डवलपर्स, ईपीसी कंपनियां, मॉड्यूल एवं उपकरण निर्माता, एमएसएमई तथा इस सेक्टर से संबंधित विभिन्न सेवा प्रदाता भाग ले रहे हैं।

ऊर्जा राज्य मंत्री ने इन सभी से प्रदेश में सौर ऊर्जा को बढ़ावा देने के लिए सुझाव लिए और सभी के सवालों के जवाब भी दिए।

नागर ने कहा कि प्रधानमंत्री  नरेन्द्र मोदी ने रामलला की प्राण प्रतिष्ठा के शुभ अवसर पर प्रधानमंत्री सूर्योदय जैसी महत्वाकांक्षी योजना की घोषणा की है, जिसके तहत एक करोड़ घरों में सोलर पैनल लगाये जाएंगे।

उन्होंने कहा कि आप सभी के सहयोग से भविष्य में राजस्थान सौर उर्जा का एक बड़ा हब बन सकेगा। उन्होंने कहा कि इस सोलर एक्सपो के माध्यम से विभिन्न सोलर उत्पादों के निर्माता एक ही छत के नीचे आ सके हैं।

राजस्थान सोलर एसोसिएशन के अध्यक्ष  सुनील बंसल तथा अन्य पदाधिकारियों ने ऊर्जा मंत्री का स्वागत किया।

एक्सपो में बड़ी संख्या में सोलर कंपनियों ने अपने उत्पादों एवं सेवाओं से संबधित स्टॉल प्रदर्शित की हैं, जिन्हे   देखने के लिए बड़ी संख्या में लोग आ रहे हैं।